स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi

प्रस्तावना :

स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi : स्वच्छता हमारी जिम्मेदारी है। कहा जाता है कि , जहा स्वच्छता होती है वह स्वयं प्रभुता का वास होता है। हमारे प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदीजी ने इस स्वच्छता के मुद्दे को नजर में रखते हुए स्वच्छता अभियान का अहम कदम उठाया है। जिसका हेतु सभी देशवासी को स्वच्छता की अहेमियत समजाने का और गंदगी को दूर करना है।

निबंध 1

स्वच्छता का अर्थ सिर्फ यह नहीं है कि हम अपने घर की साफ सफाई रखें। स्वच्छता का अर्थ यह है कि हम अपने मान शरीर अपना घर और आसपास की जगह को भी साफ सफाई करें। स्वच्छता लोगों की दिनचर्या में शामिल होना चाहिए। गांधी जी ने कहा था “स्वच्छता ही सेवा है”। हमारे देश और हमारे जीवन में स्वच्छता की बहुत जरूर है। क्योंकि आज के समय में बहुत तरह की बीमारियां गंदगी की वजह से फैल रही है। चीन एवं स्वच्छता पर ध्यान देकर दूर कर सकते हैं।

स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi
स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi

हमारे जीवन में स्वच्छता सिर्फ एक शब्द नहीं होना चाहिए बल्कि स्वच्छता एक आदत होनी चाहिए। जीवन में स्वच्छता की एक अच्छी आदत अपने दिल में साथ-साथ समाज को भी स्वच्छ रखने में मदद करती है। यदि हमें भविष्य में आने वाली युवा पीढ़ी को स्वच्छता के प्रति जागरूक करना है उन्हें एक खुशहाल जीवन देना है और उन्हें कई तरह के लोगों से दूर रखना है तो हमें खुद से ही स्वच्छता की शुरुआत करनी होगी।

खुद ही अपने आसपास साफ सफाई रखनी होगी। कहीं भी कुछ खा पी के सीधे कचरे को नहीं फेंक देना चाहिए। कचरे को हमेशा कूड़ेदान में ही फेंकना चाहिए। हर दिन सफाई की जानी चाहिए। मानसिक , शारीरिक , बौद्धिक और सामाजिक हर तरीके से स्वस्थ रहने के लिए सोचता बहुत जरूरी होती है। स्वच्छता को मनुष्य को स्वयं करना चाहिए।

हमारी भारतीय संस्कृति में भी वर्षों से यह मान्यता है कि जहां पर सफाई होती है वहां पर लक्ष्मी का वास होता है। हमारे भारत देश की वास्तविकता यह है कि यहां पर अन्य स्थानों की अपेक्षा मंदिरों में सबसे अधिक गंदगी पाई जाती है। धार्मिक स्थलों पर विभिन्न आयोजनों पर लाखों श्रद्धालु पहुंचते हैं लेकिन स्वच्छता के महत्व से अनजान होकर वहां पर बहुत बड़ी मात्रा में गंदगी फैलाते हैं। स्वास्थ्य मन ,शरीर और आत्मा के लिए स्वच्छता बहुत ही महत्वपूर्ण होती है।

स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi
स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi

बहुत से लोगों का यह कहना है कि यह काम सरकारी एजेंसियों का होता है इसलिए खुद कुछ ना करके सारी जिम्मेदारी सरकार पर छोड़ देते है। जिसकी वजह से चारों तरफ गंदगी फैल जाती है और अनेक प्रकार के रोग और बीमारियां पैदा होती है। “स्वच्छता में ही ईश्वर का वास है” इसके अर्थ को हमें समझना होगा। सड़कों पर बिखरे हुए कचरे और बहते हुए गंदे नाले के पानी के कारण अधिक से अधिक लोगों को बीमारियों का शिकार होना पड़ता है। स्वच्छता एक आदत होनी चाहिए जिसे हम सभी को आवश्यक रूप से अपनाना चाहिए।

निबंध 2

स्वच्छता हमें शारीरिक मानसिक और सामाजिक बौद्धिक रूप से स्वस्थ रखती। अपनी व्यक्तिगत स्वच्छता के साथ-साथ पालतू पशु की स्वच्छता, पर्यावरण स्वच्छता, आसपास की सफाई के साथ-साथ कार्य स्थल की सफाई का ध्यान रखना चाहिए।

खाना खाने से पहले हमें अपने हाथों को अच्छी तरह से धोना चाहिए। कपड़ों की साफ-सफाई खुद रखनी चाहिए। स्वछता हमारे जीवन के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। बचपन से हमें साफ-सफाई को अपनी आदत में लाना चाहिए। स्वच्छता रखने से हमारा वातावरण स्वच्छ और सुंदर बनता है। स्वच्छता से ही हम बीमारियों को खत्म कर सकते हैं।

स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi
स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi

गंदगी से कई तरह की बीमारियां पैदा होती है जो मानव जीवन के विकास में बाधा डालती है। हमें अपने घर के साथ-साथ आसपास की स्वच्छता का ध्यान रखना चाहिए। वातावरण को स्वच्छ रखने के लिए हमें पेड़ पौधे लगाने चाहिए। स्वच्छता को बनाए रखने के लिए हमें इधर-उधर कचरा नहीं फेंकना चाहिए कचरे को हमेशा कूड़ेदान में ही देखना चाहिए। हमारे लिए शरीर की स्वच्छता भी बहुत जरूरी है जैसे रोज नहाना स्वच्छ कपड़े पहनना दांत साफ करना नाखून काटना आदि। स्वच्छता में ही ईश्वर का वास है। स्वच्छता को अपनाएं और देश को आगे बढ़ाएं।

निबंध 3

हम स्वच्छता के बारे में लोगों से कहते है वह सुनते हैं। साफ सफाई हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण पहलू है। यह जीवन की प्रथम प्राथमिकता है। सफाई का मतलब सफाई या स्वच्छता अर्थात और स्वच्छता या गंदगी हमारे आसपास के वातावरण एवं जीवन को प्रभावित करता है। हमें व्यक्तिगत आसपास भी सफाई रखना चाहिए।

रोगियों की बढ़ती जनसंख्या तथा अस्पतालों पर ध्यान देने की आवश्यकता इस बात के महत्व को और भी अधिक स्पष्ट करती है। प्रदूषण से बचने के लिए कचरे का प्रबंधन करना चाहिए। भारत में प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत 2 अक्टूबर 2014 को गांधी जयंती के दिन प्रारंभ किया क्योंकि गांधी जी का सपना स्वच्छ भारत का था। सफाई और स्वच्छता भारत के सभी नागरिकों की एक सामाजिक जिम्मेदारी बनती हे।

स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi
स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi

यदि हम इस पुनीत कार्य में हर हफ्ते 2 घंटे समय लगा है तो स्वच्छ भारत की कल्पना साकार होना असंभव नहीं है। छोटे बच्चे परिवार से सर्वप्रथम स्वच्छता का पाठ सीखते हैं फिर विद्यालयों में जाकर सफाई और स्वास्थ्य के महत्व में के बारे में सीखते हैं। वह गंदगी कूड़े और कचरे से होने वाले नुकसान को भी समझते हैं।

अपने अच्छे संस्कारों व विचारों का जन्म भी होगा। परिवार की भूमिका यह अहम है कि हम व्यक्तिगत सफाई के माध्यम से बच्चों को इसका महत्व समझाएं। प्राथमिकता गांव को देनी होगी गांव में कछुओं के प्रबंधन के लिए लोगों को जागरूक करना तथा ज्यादा से ज्यादा शौचालयों का निर्माण करना होगा। इस कार्य में नगर निगम व पंचायत को विशेष भूमिका है। भारत की स्वच्छता को यह कोशिश मानव श्रृंखला बन कर और विस्तार पा सकती है।

निबंध 4

स्वच्छ भारत अभियान भारत सरकार की सराहनीय कोशिश है। देखा जाए तो अपने आसपास साफ सफाई रखना हमारी नैतिक जिम्मेदारी है। स्वच्छ भारत अभियान की शुरुआत सरकार ने देश में स्वच्छता के प्रति जागरूकता लाने के लिए की है।

हम ऐसे तो अपने घर साफ रखते हैं तो क्यों यह हमारी जिम्मेदारी नहीं बनती कि हम अपने देश को भी साफ रखें। कूड़े को यहां वाहनों फेंक कर कूड़ेदान में डालें। महात्मा गांधी जी ने स्वच्छ भारत का सपना दिखाया है इस के संदर्भ में गांधी जी ने कहा कि “स्वच्छता स्वतंत्रता से ज्यादा जरूरी है।” वह उस समय देश में व्याप्त गरीबी और गंदगी से अच्छी तरह से अवगत थे। उनका यह कथन साफ बयां करता है की सफाई हम सब के लिए कितनी महत्वपूर्ण है।

स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi
स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi

स्वच्छ भारत के माध्यम से विशेषकर ग्रामीण अंचल के लोग के अंदर जागरूकता पैदा करना है कि वह शौचालयों का प्रयोग करें खुले में ना जाए। इससे तमाम बीमारियों भी खेल सकती है। इस मिशन में सहयोग देने बड़ी-बड़ी हस्तियों ने हिस्सा लिया। 2019 तक सभी घरों में पानी की पूर्ति सुनिश्चित करके गांव में पाइप लाइन लगवाना या जिससे स्वच्छता बनी रहे। खुले में शौच बंद करवाना जिसके कारण हजारों बीमारियां खेलती है। गांव को साफ रखना।

सड़के फुटपाथ और बस्तियों को साफ रखना। साफ सफाई की जरूरी सभी में स्वच्छता के प्रति जागरूकता पैदा करना है। साफ सफाई से हमारा तन मन दोनों स्वस्थ और सुरक्षित रहता है। यह हमें किसी और के लिए नहीं बल्कि खुद के लिए करना है। यह जागरूकता जन जन तक पहुंचानी होगी। हमें इसके लिए जमीनी स्तर से लव कर काम करना होगा। हमें बचपन से ही बच्चों मेरे सफाई की आदत डलवानी होगी।

निबंध 5

स्वच्छता जीवन का एक महत्वपूर्ण कारक अंग है। स्वच्छता का तात्पर्य स्वच्छ होने की अवस्था से है। स्वच्छता एक अच्छी आदत है जो सभी के जीवन की गुणवत्ता को बढ़ाती है। हर सुबह जैसे ही हम उठते हैं हमें अपने दांतों को साफ करना चाहिए अपना चेहरा हाथ पैर धोना चाहिए और साथ ही स्नान भी करना चाहिए।

यह स्वस्थ रहने और शांति से जीवन जीने का सबसे अच्छा गुण एवं तरीका है। सबसे महत्वपूर्ण बात माता-पिता और शिक्षकों बचपन से ही बच्चों में इस आदत को बेटा मार देना चाहिए। ताकि वे स्वच्छता के महत्व को समझ सके। यह सार्वजनिक स्वच्छता या व्यक्तिगत स्वच्छता से संबंधित हो सकता है। हमें स्वच्छता से कभी समझौता नहीं करना चाहिए यह हमारे लिए उतना ही आवश्यक है जितना कि भोजन और पानी। ऐसा कहा जाता है कि स्वच्छता होती है वहां ईश्वर का वास होता है।

स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi
स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi

हम स्वच्छता को कई प्रकारों में विभाजित कर सकते हैं जैसे: कपड़े की सफाई, घर की सफाई, कार्यालय की सफाई, आसपास की सफाई व्यक्ति की सफाई , सड़कों की सफाई, पर्यावरण की सफाई इत्यादि। स्वच्छता हमें शारीरिक रूप से स्वस्थ बनाए रखती है और हमारे जीवन काल और उम्र को भी बढ़ावा देती है।

स्वच्छता एक स्वच्छ और अच्छी आदत है जो हम सभी के लिए महत्वपूर्ण है। स्वच्छता का अर्थ सफाई है और सफाई मानसिकता की पहचान है। हम जहां कहीं भी रह रहे हैं अपने को स्वच्छ रखें अपने आसपास के वातावरण को साफ रखें सभी को ऐसा करने को प्रेरित करें बनावट और इसकी उपयोगिता को सबके अंतः करण में समावेशित कर स्वच्छ भारत स्वस्थ भारत अभियान को सफल बनाने की विधि सेवा में ईमानदारी से कार्य करें और यह राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी को सच्ची श्रद्धांजलि होगी।

सम्बंधित जानकारी :

स्वच्छ भारत अभियान पर निबंध

मेरा नाम निश्चय है। में इसी तरह की हिंदी कहानिया , निबंध , कविताए , भाषण और सोशल मीडिया से संबंधित आर्टिकल लिखता हु। यह आर्टिकल स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और हमे फेसबुक , इंस्टाग्राम आदि में फॉलो करे।

इस आर्टिकल की इमेज गूगल और pinterest से ली गई है।

धन्यवाद❤️

2 thoughts on “स्वच्छता पर निबंध | Cleanliness Essay in Hindi”

Leave a Comment