दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

प्रस्तावना :

Dussehra Essay in Hindi : दशहरा एवं विजयादशमी हिन्दू द्वारा मनाए जाने वाला सबसे प्रचलित त्यौहार है। पुरे भारत में इस त्यौहार को अत्यंत हर्ष और उल्लास के साथ मनाया जाता है। यह दशहरा का पर्व शुक्ल पक्ष की दशमी तिथि को प्रतिवर्ष पुरे भारत में मनाया जाता है। दशहरा त्यौहार की जानकारी एक निबंध के रूप में अंकित की हुई है। जिसे आप अपनी आवश्यकता अनुसार उपयोग कर सकते है।

निबंध 1 (150 शब्द)

दशहरा भारत के सबसे लोकप्रिय त्योहारों में से एक है। लोग इस उत्सव को बड़े उत्साह और विश्वासों के साथ मानते है। दशहरा हर साल सितम्बर या अक्टूबर के अंत में और दिवाली त्यौहार के दो सप्ताह पहले आता है। भारत के विभिन्न क्षेत्रो में इस त्यौहार को मानाने के विभिन्न तरीके और परंपराए है आम तौर पर यह दस दिन लंबा त्यौहार है लेकिन कही कही ये अलग हो सकता है।

दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi
दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

लोग देवी दुर्गा की पूजा करके इस त्यौहार को मनाते है। लोग नवरात्री में उपवास रखते है कुछ लोग नौ दिनों तक तो कुछ लोग पहले और नौमे दिन को ही रखते है। इस नौ दिनों को नवरात्रि कहा जाता है। देवी दुर्गा के नौ रूप थे और इस नौरात्र के नौ दिनों में देवी दुर्गा के नौ-नौ रूपों की पूजा की जाती है जिसे “दुर्गा पूजा” भी कहते है।

नवरात्रि के दसवे दिन को एक बड़ा मेला या रामलीला लगता है। रामलीला में भगवान राम के नाटकीय जीवन का इस्तिहस दिखाया जाता है ये सत्य का असत्य पर विजय को दर्शाता है।

निबंध 2 (200 शब्द)

दशहरा हमारे देश का महत्वपूर्ण त्योहार है। इस विजयादशमी या विजय पर्व भी कहते हैं। यह त्योहार अश्विन मास में शूकर पाश्र्व की दशमी को मनाया जाता है। इस त्योहार का संबंध रामायण से है। कहा जाता है की इसी दिन रघुकुलतिलक भगवान श्री राम ने लंका के अत्याचारी और अन्यान्यी राजा रावण का वध किया था। तभी से लोग इस पर्व को विजय पर्व के रूप से मानते है।

दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi
दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

दशहरा को मुख्य रूप से “क्षत्रियों” का त्योहार कहा जाता है। इस दिन शस्त्रों की पूजा की जाती है। दशहरा से नो दिन पहले ही गांव – गांव और नगर–नगर में रामलीला होती है। इसमें रामचंद्र जी के पूरे जीवन को धारावाहिक रूप में दिखाया जाता है। दशहरा के दिन एक विशाल मैदान में रावण, मेघनाद और कुमकर्ण के विशालकाय पुतले लगाए जाते है। इस स्थान पर मेला सा लग जाता है।

बच्चे, बूढ़े और जवान सभी मेले का आनंद लेने आते है। पहले खुल्ले मैदान में राम रावण का युद्ध होता है। जिसमे राम रावण का वध कर देते है। बाद में पुतले को आग लगाई जाती है। आज लगते ही पुतले में लगे बम और पटाखे फुटते है। बच्चे यह देखकर खुशी से तालिया बजाने लगते है। दशहरा का त्योहार बुराई पर अच्छाई की जीत का होता है। यह हमे अच्छाई के मार्ग पर चलने की प्रेरणा देता है।

निबंध 3 (250 शब्द)

दशहरा एक बहुत ही महत्व पूर्ण हिन्दू त्यौहार है। जो पुरे भारत के लोगो द्वारा हर साल बेहद हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। असत्य पर सत्य की जीत तथा बुराई पर अच्छाई की जीत के रूप में यह त्यौहार मनाया जाता है। दशहरा को विजयदशमी के नाम से भी जाना जाता है। भगवान राम ने इसी दिन रावण का वध किया था तथा देवी दुर्गा ने नौ-रात्रि युद्ध के बाद महिसाशुर पर विजय प्राप्त की थी।

दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi
दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

दशहरा त्यौहार को कई सारे रीती-रिवाज और पूजा-पाठ के द्वारा मनाया जाता है। श्रद्धालु देवी दुर्गा का आशीर्वाद पाने के लिए पुरे नौ दिन तक व्रत रखते है। पं.बंगाल, बिहार, झारखंड़, आदि राज्यों में महिषासुर और माँ दुर्गा की प्रतिमा स्थापित कर उनकी पूजा-अर्चना की जाती है। पुरे नौ दिनों तक दुर्गासप्तशती का पाठ चलता है। पूजा होने के बाद लोगो को प्रसाद वितरित किया जाता है और साथ में लंगर चलने का कार्यक्रम भी किया जाता है।

दुर्गा माता की मूर्ति की स्थापना कर पूजा करने वाले उनके भक्त माँ दुर्गा की मूर्ति-विसर्जन का कार्यक्रम भी गाजे-बाजे के साथ करते है। इसके आलावा कई जगहों पर ७ दिन या महीनो तक रामलीला का आयोजन किया जाता है।

दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi
दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

दशहरा के उत्स्व पर स्कूलों, कॉलेजों और कार्यालय में कुछ दिनों के लिए छूट्टी मिल जाती है। लोग इस पर्व को ढेर सारी ख़ुशी और उत्साह के साथ पुरे देश में मनाते है। पुरे देश में रावण, कुम्भकर्ण और मेघनाथ का पुतला जलने के साथ ही इस उत्सव का दसवाँ दिन मनाया जाता है।

निबंध 4 (300 शब्द)

भारत एक ऐसा देश है जो अपनी परंपरा संस्कृति और उत्सवों के लिए जाना जाता है। यहाँ हर पर्व को लोग बहुत ख़ुशी के साथ मनाते है। इस त्यौहार का संबंध भी पौराणिक घटना से है। माँ दुर्गा ने महिषासुर नामक दैत्य से ९ दिन तक संघर्ष किया तथा दसवें दिन उसका वध किया। उतर भारत में यह त्यौहार मर्यादा पुरुषोत्तम श्री राम की रावण पर विजय के प्रतिक के रूप में मनाया जाता है। इसी दिन श्री राम ने कंका के राजा रावण पर विजय पाई थी। भगवान राम ने रावण को इसलिए मारा क्योकि उसने माता सीता का हरन किया था और वापस करने के लिए तैयार नहीं था।

दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi
दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

इसके बाद भगवान राम ने हनुमान की वानर सेना और लक्ष्मण के साथ मिलकर रावण को परास्त किया था। रावण को मरने के बाद राम ने सीता को वापस पाया। दशहरे से कुछ दिनों पूर्व से जगह जगह पर रामलीला आयोजित की जाती है। जिनमे भगवान राम का जीवन चरित्र प्रदर्शित किया जाता है।

दशहरे नगरों में बहुत धूमधाम होती है। एक खुले मैदान में रावण मेघनाद तथा कुंभकर्ण के बड़े-बड़े पुतले बनाए जाते है, जहा राम रावण का युद्ध दिखाया जाता है। श्री रामचंद्र जी रावण का वध कर देते है तथा अग्निबाण छोड़कर पुतले में आग लगा देते है। पुतलो में बेम तथा पटाखे भरे होते है। पुतलो के जलने से जो आवाजे आती है उस पर हर्ष व्यक्त किया जाता है। दशहरे का दिन हमे यह प्रेरणा देता है की “सत्यमेव जयते” अर्थात सत्य की हमेशा विजय होती है।

दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi
दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

मर्यादा पुरुषोत्तम राम से जुड़ा यह त्यौहार हमे भगवान राम के आर्दशो पर चलने की पेरणा देता है। विद्यार्थीओ को राम के चरित्र से प्रेरणा लेनी चाहिए की वह भी राम की तरह आज्ञाकारी, वीर एवं साहसी बनने का संकल्प ले।

जय श्री राम।

निबंध 5 (400 शब्द):

“अहंकार और बुराई को रावण संग जलाए,
इस बार ऐसे हम का त्यौहार मनाये। “

  • प्रस्तावना

दशहरा हिन्दू धर्म को मानने वाले लोगो का एक प्रमुख त्यौहार है। इस त्यौहार को हिन्दू धर्म में मानने वाले लोगो द्वारा लगातार नौ दिन दिन नवरात्री मनाने के बाद दसवे दिन बड़े ही हर्ष और उल्लास के साथ एक दूसरे में मिठाइयाँ बात कर और बड़े ही ह्दय से आनंद पूर्वक मनाया जाता है। इसलिए इसे दशहरा कहते है।

दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi
दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

बुराई पर अच्छाई की जिजय के प्रतिक इस त्यौहार को विजयदशमी भबि कहते है। भगवान राम ने इसी दिन रावण का वध किया था और माँ दुर्गा ने नौ रात्रि के युद्ध के पश्चात् महिषासुर का वध किया था। अंत: पहले नौ दिन तक देवी दुर्गा की पूजा की जाती है, दसवे दिन लोग रावण का पुतला जला कर मनाते है। दशहरा का पर्व सितंबर और अक्टूबर के महीने में दिवाली के दो या तीन हफ्ते पहले पड़ता है

  • दशहरा किस प्रकार मनाया जाता है

दशहरा पर्व को मनाने के लिए जगह-जगह बड़े मेलो का आयोजन किया जाता है। मेलो में तरह तरह की वस्तुए, चूड़ियों से लेकर खिलौने और कपडे बेचे जाते है। दशहरे के त्यौहार में रावण का एक बड़ा ही विशाल पुतला बनाया जाता है और उस पुतले में पटाखे, लकड़ी, सुखी घास आदि का उपयोग होता है। और इस पुतले को भगवान श्री राम की वेशभूषा धारण किये हुए इंसान के द्वारा एक जलता बाण मारकर उस पुतले यानि रावण का दहन किया जाता है। दशहरा भगवान राम की विजय के रूप में मनाया जाता है अथवा दुर्गा पूजा के रूप में, दोनों ही रूपों में यह शक्ति-पूजा, शस्त्र-पूजन ,हर्ष, उल्लास तथा विजय का पर्व है। रामलीला में जगह-जगह रावण वध का प्रदर्शन होता है।

  • दशहरा का महत्व एवं शिक्षा

दशहरा का त्यौहार हिन्दू धर्म में मानने वाले लोगो में बहुत महत्वपूर्ण होता है। इस त्यौहार पर हमे यह सिख मिलती है की अगर हमे रावण यानि बुराई भ्र्ष्टाचार, चोरी-चाकरी, लूट-फाट, ईर्षा, अहंकार जैसी खराब वृति का इस संसार से दहन करना है तो पहले हमे खुद मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्री राम यानि आदर्शवादी, सच्चा, ईमानदार, बनना पड़ेगा। यदि हम भगवान श्री राम के गुण का अपने जीवन में अनुशरण करते है तो ही हम इन सब रावण का दहन कर पाएंगे।

दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi
दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi

“बुराई का मिटाकर अधियारा,
चारो और फैलाए अच्छाई का उजियारा।”

दशहरा जश्न के रूप में मनाया जाने वाला त्यौहार है। किसानो के लिए फसल को घर लाने का जश्न, चचो के लिए राम द्वारा रावण के वध का जश्न, बड़ो द्वारा बुराई पर अच्छी का जश्न, आदि। यह पर्व बहुत ही सुबह और पवित्र माना जाता है।

  • उपसंहार

विजयादशमी एक ऐसा पर्व है, लोगो के मन में नई चाह लेकर आता है। यह त्यौहार हमे यह सिखाता है की “रावण को मरने के लिए पहले खुद राम बनना पड़ता है।

संबंधित जानकारी :

रक्षाबंधन पर निबंध

क्रिसमस पर निबंध

मेरा नाम निश्चय है। में इसी तरह की हिंदी कहानिया , निबंध , कविताए , भाषण और सोशल मीडिया से संबंधित आर्टिकल लिखता हु। यह आर्टिकल दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और हमे फेसबुक , इंस्टाग्राम आदि में फॉलो करे।

इस आर्टिकल की इमेज गूगल और pinterest से ली गई है।

धन्यवाद❤️

1 thought on “दशहरा पर निबंध | Dussehra Essay in Hindi”

Leave a Comment