विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

प्रस्तावना :

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi : आज का युग साइंस का युग हे। कलम से लेकर लेपटॉप तक सबकुछ साइंस पर की देन हे। आज हम सौ फीसदी साइंस पर ही आश्रित हे। जब हम पीछे मुड़कर देखते हे तो पते हैकि साइंस की दुनियाने कितनी तरक्की का रली हे। दुनिया गेजेट्स और मशीनरी से भरी पड़ी हे। मशीन हमरे परिवेश में सबकुछ करती हे। यह सब कैसे संभव हुवा ? यह सब साइंस की मदद से संभव हुआ इसके आलावा साइंस ने हमारे जीवन में को आसान आवर अलसी बना दिया हे।

निबंध 1 (300 शब्द)
  • दैनिक जीवन में साइंस

साइंस ने हमारे जीवन में कई बदलव किये हे। सबसे पहले परिवहन अब आसान हे। साइंस की मदद से अब लम्बू दुरी तय करना आसान होगया हे। इसके आलावा यात्रा का समय भी काम हो जाता हे। विभिन तीव्र गति वहां इन दिनों उपलब्ध हे। ये वहां पुरुतरह से हमरे समाज का रूप बदल दिए हे।

साइंस ने भाप जीवन को विधुत जीवन में बदल दिया हे। पहले के समय में लोग साईकिल से यात्रा करते थे। लेकिन अब हरकोई मोटरसाइकिल और करोमे यात्रा करता हे। इसमें समय और मेहनत बचती हे। यह सब साइंस की मदद से संभव हे। साइंस ने हमें चाँद तक पहुंचाया हे। यह सिलसिला यही थमा नहीं।

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

उसने हमें मंगल कभी सेर कराई हे। यह सबसे बड़ी उपलब्धि योमे से एक हे। इन दिनों वैज्ञानिक कई उपग्रह बनते हे। जिसकी वजह से हम हाई स्पीड इंटरनेट इस्तेमाल कर पा रहे हे। यासतक की हमें जानकारी हुई बिना ही उपग्रह दिन रत पृथ्वी की परिक्रमा करते रहता हे।

  • उपसंहार

साइंस हमारे समाज की रीढ़ हे। हमारे वर्तमान समय में साइंस ने हमें बहुत कुछ दिया हे। इसके कारण हमरे स्कूलो में शिक्षक कम उम्र से ही साइंस पदहते हे। साइंस के बिन आजके जीवन की कल्पना भी नहीं की जा सकती।

निबंध 2 (350 शब्द)
  • भूमिका

विज्ञान का अर्थ हे की किसी विषय है विशेष ओर व्यवस्थित ज्ञान। विशेष ज्ञान के दाल पर ही विशेष कार्य किये जाते हे। तरह तरह के अधिकारी तथा खोज विज्ञान के ही परिणाम हे।

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

विज्ञान की दी हुई चीजों का उपयोग है सुबह से लेकर नींद आने तक लगातार करते रहते हे। यहाँ तक की नींद आने के बाद भी हमें लाभ पहुँचता रहता हे। आज विज्ञान के बिना मनुष्य का जीवन सभय नहीं कहा जा सकता।

  • विज्ञान से लाभ

विज्ञानं ने हमरे जीवन को कितन सुखी बनादिया हे, यह कहने की आवश्यकता नहीं हे। कपडे बुनने के कला-कारखाने अधिक अनाज उगने क लिए हैकर तथा अन्य मशीनों, माकन बनाने के नए नए उपाय तथा औजार, ये सब विज्ञानं ने हमरे लिए बनाये हे।

किसी समय लोग अकाल से मरने को बजबूर थे किन्तु आज किसी के भूख से मरने की खबर सायद ही कभी मिलती हो। आज सरीर ढकने के लिए कपडे सबके पास हे। किसी समय बड़ी संख्यामे हैजा प्लेग अदि बीमारियों से लोगो की मोत होजाती थी।

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

आज ये सब रोग विज्ञान के नियंत्रण में हे। इन रोगोका आसानीसे इलाज किया जा सकता हे। इतना ही नहीं, विज्ञान में हमरी दैनिक सुख सुविधा की छोटी छोटी चीजों के आलावा शिक्षा, सूचना, संपर्क, यात्रा तथा शत्रुओ से रक्षा के अनेक उपाय ओर साधन हमें दिए हे।

सुई से लेकर कर,ट्रैन,विमान तथा अंतरिक्ष यान और कृत्रिम उपहरण तक विज्ञान के हाथो बन चुके है जिनका प्रत्यक्ष या परोक्ष रूप से जरूर हकरते हे।

  • हानि

विज्ञानं से जहा मनुष्य के इतने लाभ हुए हे ओर जीवन सभ्य तथा सहज बना बन्दूक, बम , मिसाइल, जहरीले गैस अदि बनाकर मनुष्य को भरी नुकसान पहुव्हाया हे भविष् के प्रति भय भीत करदिया हे। आज पुरे संसार एटम बम के भय से कप रहा हे। प्रदुषण भी बढ़ा हे ओर वायुमण्डल के ओजोमण्डल को भी नुकसान हुआ हे।

  • उपसंहार

अतः विज्ञान एक तरफ मनुष्य के लिए वरदान हे तो अभिशाप भी हे। यह हम पर निर्भर करता हे की हम विज्ञान का प्रोयोग कैसे करे।

निबंध 3 (500 शब्द)
  • प्रस्तावना

आज का युग साइंस का युग हे छोटी से छोटी वास्तु से लेकर बड़ी से बड़ी वास्तु तक जोभी आज हम जीवन में उपयोग ले रहे हे। साइंस की दन हे। ये वास्तु इतनी अधिक हे की इनका गईं पाना सरल नहीं हे। छोटी सी सुई,धागा, बटन, कागज, पेन्सिल, पेन यदि साडी चीजे वस्तुए सइंस के कारण ही हमें आज प्राप्त हे।

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
  • समय आवर साधन की दुरी सम्पत

साइंस ने समय औइर स्थान की दुरी समाप्त कर दी हे। पहले जहा पहुंचने के कई महीने लग जाते थे, वह अब कुछ ही घंटो पहुंच जाते हे। सागर हो भी पर कारण अब कठिन नहीं हे। पर्वत को लांग न अब बाये हाथ का खेल बन गया हे। रेगिस्तान को पर करना अब कठिन नहीं रहा। यह सब साइंस के कारण संभव हो पाया हे।

  • साइंस की प्रगति का आधार

साइंस के कारण आज मानव ने बहुत साडी प्रगति कर ली हे। कृषि , उद्योग -धंधे, यतायात के स्थान सभीमे साइंस के चरण दिखे दे राहे हे। शिक्षा के क्षेत्र में बहुत प्रगति हुई हे। शिक्षा के लिए आवश्यक पुस्तके, कागज, पेन,अदि साइंस के द्वार ही हमें मिल प् रहा हे। इसी प्रकार अन्य क्षेत्रों में भी हमने बहुत प्रगति की हे। इस प्रगति का आधार साइंस हे।

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
  • मनोरंजन ओर साइंस

आज खेल कूद की सामग्री से भजार भरे पड़े हे। अनेक पारकर के पात्र, रेडिओ, दूरदर्सन अदि हम आसानीसे प्राप्त कर सकते हे. घर में बैठे बैठे हम अपनी पसंद का कार्यक्रम देख सकते हे। मनोरंजन के क्षेत्र में यह उनती सइंस के चमत्कार का ही परिणाम हे।

  • चिकित्सा ओर साइंस

चिकित्सा के क्षेत्र में भी साइंस ने चमत्कार पैदा का रडिया हे। छोटीसे छोटी बीमारी से लेकर बड़े से बड़ा घातक रोग तक का इलाज आज आसानीसे किया जा सकता हे। कोई भी रोग आज असासा नहीं जिसे आज असाध्य कहा जा सके।

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

हमरे पास सबका इलाज हे। आज हमें नई नई औषधि या प्राप्त हे। श्लय चिकित्सा के लिए एक से एक बढ़कर उपकरण का आज हम प्रयोग कर सकते हे। इतना ही नहीं आज हम हम मरने के समीप कुछ रोगीको भी कुछ ओर समय जीवित रखा सकते हे. ऐसी औषधीय भी साइंस का चमत्कार का ही परिणाम हे।

  • साइंस के लाभ

इस प्रकार साइंस के लाभ ही लाभ हे। साइंस ने हमरे जीवन को बिलकुल बदल कर रख दिया हे। पहन नेके लिए बढ़िया सें बढ़िया कपडा हमें प्राप्त हे। स्कूटर, करे, वायुमन,बेस और रेलगाड़िया हमारे आने जाने का साधन हे। बिजली ने गर्मी और सर्दी को अपने वश में करनेका रास्ता बनादिया हे। पर यह साइंस का एक पक्ष हे। इसका एक दूसरा भी पक्ष हे।

  • साइंस का विनास का कारन

साइंस ने मानव के विनाश के लिइ भी बहुत सी सामग्री बनादि हे। अनु बोम्ब , हाइड्रोजन बोम्ब , नापाक बोम्ब अदि विध्वंस मचादेने वाले सत अस्त शास्त्र इतने हानिकारक हे की उनके प्रयोग से मानव जातिका नाम ओर नीसाण ही मिट जायेगा।

  • उपसंहार

साइंस ने मानव जातिको बदल कर रखा दिया हे। इसने असंभव को संभव कर दिया हे। साइंस तो साधन हे। इस साधन का उपयोग करना मानव के हाथ में हे। वह यदि चाहे तो इससे मानव जातिका कल्याण कर सकता हे।

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

यदि वह साइंस का प्रयोग मानव के विनाश के लिए करता हे तो इसमें साइंस का कोई दोष नहीं हे। दोष हे तो उसका हे जो इसका मानव संहार के लिए प्रयोग करता हे।

निबंध 4 (600 शब्द)
  • प्रस्तावना

ये साइंस की दुनिया हे । साइंस ने हमें बहोत सरे चमत्कार दिए हे। ये हमारी रोज मारकी जिन्दगीमे बहोत ज्यादा खास भूमिका निभाता हे। ये कई ऐसी चीजोंको जो संभव नहीं थी उसेभी संभव बनचुका हे। इसी कारण हमारी जिंदगी आसान बनचुकी हे। अब हमें जानना चाहिए की साइंस क्या होता है। साइंस कुछ नहीं हे। लेकिन एक तरीका हे किसीभी चीज को जान नेका।

  • साइंस की खोजे
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

यहाँ साइंस की बहोत साडी खोजे हे। आज हमारे पास छोटी से छोटी बड़ी से बड़ी चीजे हे प्रयोग के लिये। आज हमारे पास अपनी जरूरते पुरकरनेके लिए सबकुछ हे। जैसे कि बिजली, कंप्यूटर, ट्रैन, टी.व्., रेडिओ अदि.. और हमरे पास वॉशिंग माशिम भी हे कपडे धोने के लिए।

  • बिजली के साधन

बिजली साइंस की बहोत बड़ी खोज हे। साइंस की ज्यादार खोजे बिजलीपर ही निर्धारित हे। ये फ़ैक्टरिओ को चलती हे , हमारे घरोमे बिजली देती हे और पानी भनेके काम अति हे और बहोत साडी चीजे करती हे। बिना बिजलीके हमारी जिंदगी नरक के सामान बनगयी हे। क्योकि हमारी कफीसरी जीवन जरुरी चीजे हम बिजलीसे ही करते हे। साइंस की जितनी भी खोजे हे वो बिजली तक ही रुकी हे। जब बिजली होगी तब ही आगेकी खोजे होगी।

  • संचार के साधन
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

टी.वि ,रेडिओ। न्यूज़ पेपर, और मोबाईल ये सब बात कर ने के माध्यम हे। आज कल हम कोई मेसेज अपने रिलेटिव को भेजना चाहते हे तो वो हम कुछ सेकड़ो में ही भेज सकते हे। अगर हम प्रेजेंट में हम कहीभी बात कारना चाहते हे तो कर सकते हे। अगर हम कोई जानकारी पुब्लिक में भेजना चाहते हे तो वो हम कुछ सेकड़ो में ही भेज सकते हे। टी.वि. , रेडिओ, और मोबाइल फोन के जरिये हम भेज सकते हे।

  • कंप्यूटर

कंप्यूटर साइंस की बहुत बड़ी खोज हे। ये बहोत तेज मशीन हे। आज कल ज्यादातर काम कंप्यूटर के द्वारा किये जा रहे हे। इसीकारण कंप्यूटर का सभी जगह प्रयोग होरहा हे। जैसे की स्कूल, कॉलेज, रेलवेस्टेशन, ऐरपोट, बैंक, ऑफिस। ये बड़े से बड़े नम्बरोंको कुछ सेकन्डोमे केल्क्युलेट करसकता हे। ये आदमीसे भी बहोत तेज हे। ये सो लोगो के बराबर अकेला काम करसकता हे।

  • यातायात के साधन

बस, कार्स, शिप्स, एरोप्लेन ये सब बहोत बड़ी खोज हे साइंस की। आज आदमी कहीभी कभी भी खुश भी घण्टोमे पहोच सकता हे। यहाँ तक की वो दूसरे ग्रहो में भी साइंस की मदद से पहोच सका हे।

  • चिकित्सा साइंस

साइंस ऐसी ऐसी बीमारी औ को ठीक करचुका हे जो ठीक नहीं हो सकती। ये हमें बहोत ही हस्तपुस्त बना चूका हे। इस साइंस में सब पॉसिबल हे जैसे की बोडी के किसी भी हिसे को बदल ना संभव होगया हे।

विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi
विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi

साइंस बड़ी से बड़ी बीमारीए ठीक नहीं होसकती थी। जैसे की टी.बी. ,कैंसर। ये ांधोंको आंख दे छू की हे। और बेहरोको कण दे चुकी हे। और लँगड़ो को टांग दे छू की हे। आज ये सब साइंस की बदौलत पॉसिबल होचुका हे।

  • साइंस की हानिया

हर चीज के दो पहलु होते हे। साइंस का भी एक नेगेटिव पहलु हे। आजकल आइटम बम और दूसरे खतरनाक वेपन्स भी आदमीके हाथ में आ चुके हे। ये कुछ ही सेकंड में पूरी दुनियाको नस्ट कर सकता हे।

  • उपसंहार

साइंस का दूर उपयोग कुछ सम्यक के लिए मीठे जहर के सामान हे। और हे मानव जाती के किये बहोत ही खातर नाक हे लेकिन इसका सही प्रयोक हमारी जिन्दगीको सवर्ग में बदल सकता हे। ये हमारे लिए वरदान हो सकता हे। लेकिन ये हमारे ऊपर निर्भर करतहे की हम इसका केसा प्रयोग करे। अगर हम इसका सही तरीकेसे इस्तेमाल करे तो वो हमारे लिए अच्छा हे। ये आदमीको बहोत सरे वरदान दे चूका हे। सइंस ये अच्छा नौकर हे जबतक वोहामरे कण्ट्रोल में तबतक वो सही हे लेकिन जब वो कण्ट्रोल से बहार होजाता हे तो वो खतरनाक होता हे।

संबंधित जानकारी :

आदर्श विद्यार्थी पर निबंध

मेरा नाम निश्चय है। में इसी तरह की हिंदी कहानिया , निबंध , कविताए , भाषण और सोशल मीडिया से संबंधित आर्टिकल लिखता हु। यह आर्टिकल विज्ञान पर निबंध | Vigyan Essay in Hindi अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और हमे फेसबुक , इंस्टाग्राम आदि में फॉलो करे।

इस आर्टिकल की इमेज गूगल और pinterest से ली गई है।

धन्यवाद❤️

Leave a Comment