माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

निबंध (150 शब्द)

” माँ धरती पर भगवान का अवतार है I
माँ के चरणों में स्वर्ग का द्वार है II “

माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi
माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

हमारी माँ हमारे और हमारे परिवार के लिए अपना जीवन समर्पित कर देती है I माँ रोज सुबह जल्दी उठकर सारे काम करने लगती है I और शाम तुक कुछ ना कुछ कम करती रहती है I

हमे और हमारे पिता को हफ्ते में एक दिन तो छुट्टी मिलती ही है लेकिन हमारी माँ कभी छुट्टी नहीं लेती है I वो हमेशा कुछ ना कुछ कम करती रहती है चाहे कपड़े धोना, बर्तन साफ़ करना, घर का हर कोना साफ़ करना आदि I

हमारी माँ कभी उसके खुद के बारे नहीं सोचती वो हमेशा अपने परिवार के ही बारे मे ज्यादा सोचती है, अपने परिवार को अच्छा खाना खिलाना, साफ़ सुथरा घर रखना, परिवार में सबका खयाल रखना, साफ़ सुथरे कपड़े रखना आदि को हमारी माँ उसका कर्तव्य मान कर अपना जीवन अपने बच्चों और परिवार को समर्पित कर देती है I

माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi
माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

” सर पर जो हाथ फेरे हिम्मत मिल जाए,
माँ जो एक बार मुस्कुराए तो जन्नत मिल जाए I “

निबंध (200 शब्द )

“हालातो के आगे जब साथ न जुबां होती है,
पहचान लेती है ख़ामोशी मेंरे हर दर्द को ,
वो सिर्फ माँ होती है। “

माँ भगवान की सबसे श्रेष्ठ रचना है उसके जितना त्याग और प्यार कोई नहीं कर सकता है। माँ विश्व की जननी है, उसके बिना संसार की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। माँ हमारी जन्म दाता होती है, माँ ही हमारी सबसे पहली गुरु भी होती है।

माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi
माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

“यु तो मेने बुलंदीओ के हर निशान को छुवा है,
जब माँ ने गोद में उठाया तो आसमान छुआ है। “

हमारी माँ हमारे लिए हमारे भगवान के स्वरूप होती है I माँ को चारो धामों से भी अधिक माना गया है I बच्चे बड़े होकर माँ को छोड़ सकते हैं लेकिन एक माँ बच्चे को छोड़ने का तो क्या कभी आपने बच्चो का बुरा सोचती भी नहीं है I

माँ के बिना हमारे जीवन की कल्पना भी नहीं हो सकती I हमारी माँ हमारे जीवन के हर पहलुओं में हमारे साथ खड़ी रहती है I दुनिया मे सारी चीजें पैसों से खरीदी जा सकती है लेकिन माँ की ममता को नहीं खरीदा जा सकता I इसलिए अपनी माँ का सम्मान और उन्हें बहुत प्यार करना चाहिए I

निबंध (300 शब्द)

माँ ये शब्द हमारे कान में पड़ते ही हमारे सामने एक ऐसी दिव्य मूर्ति आती है, जिस मूर्ति के वातसल्य का कोई भी अंत नहीं, जिस मूर्ति के प्रेम की कोई भी सीमा नहीं और जिसकी गोद में बैठने का सुख एक तरफ और संसार में बाकि सारे सुख एक तरफ।

सचमुच माँ प्रेम की प्रतिमा है। वह सुबह से शाम तक हमारे परिवार की सुख सुविधा की चिंता में लीं रहती है। ‘आराम हराम है’ यह सूत्र उसका जीवन मंत्र है। घरगृहिणी की छोटी से छोटी बात पर उसकी नजर रहती है।

माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi
माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

सुंदर व्यवस्था और आकर्षक सजावट से वह घर को सदा स्वर्ग बनाए रखती है। वह घर के सभी सदस्यों को उनके काम में सहायता करती है। माँ स्नेह, ममता, उत्साह, कर्तव्यपराणयता और सदभावना की मूरत है। माँ शब्द कहते ही मनो जैसे सुकून मिलता है।

माँ घर की लक्ष्मी है। माँ हर तरह के ज्ञानो का खजाना है वह धर्मग्रंथो से लेकर समाज में क्या हो रहा है सब की खबर रखती है। माँ के पास हर दुविधा का समाधान होता है। वह कभी अपने बच्चो को किसी भी मुसीबत में नहीं देख सकती। माँ अपने बच्चे और परिवार के लिए वक्त आने पर जान दे भी सकती है और ले भी सकती है। माँ अगर स्नेह से भरी मूरत है तो माँ दुर्गा का भी रूप है। एक माँ कुछ भी सहन कर सकती है कोई भी कष्ट उठा सकती है अपने बच्चे और परिवार के लिए मगर उनपे कभी कोई आँच नहीं आने दे सकती।

हम सब अपने जीवन में जो कुछ भी सफलता प्राप्त करेंगे उसमे हमेशा ही सबसे अधिक और महत्वपूर्ण योगदान हमारी माँ का होगा, और साफ;लटका सबसे अधिक श्रेय हमारी माँ को ही मिलना चाहिए। माँ की सेवा, त्याग, और प्यार का ऋण हम कभी नहीं चूका सकते।

माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi
माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

“मांग लू यह दुवा की,
फिर यही जहाँ मिले,
फिर वही गोद मिले,
फिर वही माँ मिले।”

निबंध (350 शब्द)

“उसके होने से जीवन मे कोई गम नहीं होता,
एक माँ का प्यार कभी कम नहीं होता I “

माँ, इस एक शब्द के अंदर पूरी दुनिया समाई हुई है I माँ के बिना परिवार एसा लगता है मानो परिवार में से एक क़ीमती हीरा गायब है, जिसकी कीमत कोई नहीं लगा सकता है I वो दिन रात अपने बच्चों और परिवार के अन्य सदस्यों की हर ख्वाहिशों का खयाल रखती है I बलिदानों की मुरत होती है माँ I माँ वह है जो हमे जन्म देने के साथ ही हमारा लालन-पालन भी करती है I माँ के इस रिसते को दुनिया मे सबसे ज्यादा सम्मान दिया जाता है I

माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi
माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

माँ बहुत ही मेहनती और समझदार होती है I माँ घर मे सबसे पहले उठकर घर का सारा काम करती है I वह सब के लिए स्वादिष्ट भोजन बनाती है जिसे सभी लोग बड़े आनंद से खाते है I माँ हमारे जीवन मे कयी सारी महत्वपूर्ण भूमिकाएं निभाती है I माँ हमारे जीवन का आधार स्तंभ है I वह हम सभी की शिक्षक तथा मार्गदर्शक होती है I

जब हम किसी समस्या मे होते है तो वह हममे विश्वास पैदा करने का कार्य करती है I हमारी सफ़लता तथा असफ़लता दोनों मे ही वह हमारे साथ खड़ी रहती है I माँ ने हमको जीवन की सभी बाधाओं पार करने की शक्ति प्रदान की है I माँ के बिना हम अपने जिवन की कल्पना भी नहीं कर सकते यही कारण है कि हम अपनी माँ को अपना आदर्श मानते है I

हमारी माँ हमे हमेशा सदाचार के पाठ पढ़ाती है I वह हमे एक अच्छा इंसान बनने और गरीब व असहाय लोगों की मदद करने हेतु प्रेरित करती है I हम हमारे जीवन मे कभी उनका कर्ज तो नहीं उतार सकते लेकिन उनका हर सपना साकार करने का प्रयास जरूर कर सकते है I और यह ध्यान रखेंगे की हमारी वज़ह से हमारी माँ का सर कभी भी शर्म से नीचा न हो I

माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi
माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

” खुदा का दूसरा रूप है माँ,
ममता की गहरी झील है माँ,
वो घर किसी जन्नत से कम नहीं,
जिस घर मे पूजी जाती है माँ I “

निबंध (450 शब्द)

माँ वो है जो हमसे इतना प्यार करती है की कभी कभी हम खुद उसे समझ नही पाते। माँ वो है जो हमसे एहसास दिलाती हैं कि हम कितने अच्छे है हमसे अच्छा की है ही नही। माँ वो है जिसकी खुशी हमारी हसी से है और जिसका दुःख हमारे दुःख से, माँ वो है जिसके बिना हम जी नही सकते , माँ सबकुछ हैं।

माँ भगवान की सबसे श्रेष्ट रचना है। उसके जितना त्याग और बलिदान कोई नही कर सकता। माँ विश्व की जननी है उसके बिना संसार की कल्पना भी नही की जा सकती। माँ ही हमारी जन्मदाता होती ही और वो ही हमारी सबसे पहेली गुरु भी होती है और वही हमसे सबसे ज्यादा प्यार और दुलार करती है। वह हमें कठिनाइयों से लड़ते हुए जीवन मे आगे बढ़ने की सीख देती है। वह हमारी प्रत्येक जरुरियतो का ख्याल रखती है और स्वयं कष्ट सह कर भी हमे अच्छा जीवन प्रदान करती है।

माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi
माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi

माँ जिसे हम जननी भी कह कर बुलाते है। माँ शब्द हर एक के मुख पर होता है और यह शब्द दुनिया का अनमोकल शब्द है। माँ इस दुनिया मे भगवान का रूप ही है। हम सभी के दिलो में माँ के लिए असीमित प्रेम होता है। मातृ दिवस हर बच्चे और उनकी माता के लिए अहम दिवस होता है। माँ पर आँख बंध करके भरोसा करते है। एक माँ के लिए उसके बच्चों की मुस्कुराहट ही सबसे कीमती होती है।

जीवन मव माँ का होना बहुत आवश्यक है जिस तरह आवक मछली के लिए पानी का होना जरूरी है वेसे हुई हर इंसान को माँ की जरूरत होती है। सिर्फ मनुष्य को ही नही बल्कि पृथ्वी के सारे सजीवों को माँ की आवश्यकता है। अगर इस दुनिया मे भगवान ने माँ को न भेजा होता तो इस दुनिया की कल्पना करना भी मुश्किल हो जाता। जीवन जीने के लिए माँ का होना जरूरी है।

माँ जब बच्चे को जन्म देती है तो काफी कष्ट पीड़ा सहन करती है लेकिन जब वो अपने बच्चे की मुस्कुराहट देखती है तो सारे दर्द भूल जाती है। माँ हुम् सबके जीवन का एक महत्व पूर्ण हिस्सा होती है। माँ सिर्फ माँ ही नही बल्कि एक आदर्श गुरु, एक अच्छा मित्र जो हर हाल में साथ दे ऐसी होती है। माँ बच्चे की प्रथम पाठशाला होती है जो बच्चे को सही राह दिखाती है।

समाज और परिवार में माँ का होना बहुत जरूरी होता है। माँ का जीवन मे होना अति आवश्यक हैं उनजे बिना जीने की उम्मीद ही नही है। अगर माँ न होती तो हमारा अस्तित्व भी नही होता। खुशी छोटी हो या बड़ी माँ उसमे बढ़-चढ़कर हिस्सा लेती है क्योंकि माँ के लिए हमारी खुशी सबसे ज्यादा मायने रखती है। माँ का प्रेम निःस्वार्थ होता है। वो सिर्फ प्रेम के बदले अपने बच्चों से प्रेम ही चाहती है। माँ ही हमारी दुनिया है।

संबंधित जानकारी :

शिक्षक पर निबंध

मेरा नाम निश्चय है। में इसी तरह की हिंदी कहानिया , निबंध , कविताए , भाषण और सोशल मीडिया से संबंधित आर्टिकल लिखता हु। यह आर्टिकल माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और हमे फेसबुक , इंस्टाग्राम आदि में फॉलो करे।

इस आर्टिकल की इमेज गूगल और pinterest से ली गई है।

धन्यवाद❤️

1 thought on “माँ पर निबंध | Maa Essay in Hindi”

Leave a Comment