गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi

गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi

गाँधीजी पर निबंध : भारत की पावन भूमि पर अनेक संत महात्माओं विचारकों और समाज सुधारकों ने जन्म दिया है। जिन्होंने भारत देश के मस्तक को गर्व से ऊंचा कर दिया है इनमें से एक महात्मा गांधी थे। महात्मा गांधी एक महान स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने अपने पूरे जीवन भारत की स्वतंत्रता के लिए संघर्ष में बिता दिया था। महात्मा गांधी जी को भारत में बापू या राष्ट्रपिता के स्वरूप में माना जाता है।

गाँधीजी पर निबंध - Essay on Mahatma Gandhi in Hindi
गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi

महात्मा गांधी का पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी है , उसका जन्म 2 अक्टूबर 1869 मैं गुजरात राज्य के काठियावाड़ जिला अंतर्गत पोरबंदर में हुआ था।बापू के बचपन का नाम मोहनदास था। राजकोट शहर में ही रहकर गांधीजी ने अपनी हाईस्कूल की परीक्षा उत्तीर्ण की। गांधी जी के मन पर बाल्यावस्था से ही माता के हिंदू संस्कार एवं आदर्श की छाप और पिताश्री के सिद्धांत वादी विचारों की बड़ी गहरी छाप पड चुकी थी। गांधीजी बचपन से ही पढ़ाई लिखाई में अव्वल आते थे और उसका तेज अपने मुख पर साफ झलकता था।

बचपन से ही गांधीजी को अपने भारत देश के प्रति प्यार एवं सम्मान था। 13 साल की नन्ही सी उम्र में उनका विवाह कस्तूरबा गांधी से हो गया। इनके विवाह के कुछ ही दिनों में उनके पिताजी का देहांत हो गया। उनकी माता का नाम श्री पुतलीबाई और पिता का नाम श्री करमचंद गांधी था।गांधी जी एक ऐसे पुरुष थे जो अहिंसा और सामाजिक एकता पर विश्वास करते थे।

गाँधीजी पर निबंध - Essay on Mahatma Gandhi in Hindi
गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi

उन्होंने भारतीयों को स्वदेशी वस्तुओं के उपयोग के लिए प्रेरित किया और विदेशी वस्तुओं का बहिष्कार करने के लिए लोगों को प्रेरित किया। आज भी लोग उन्हें उनके महान और अतुल्य कार्यों के लिए याद करते हैं। भारतीय संस्कृति से अछूत ओर भेदभाव की परंपरा को नष्ट करना चाहते थे और ब्रिटिश शासन से भारत को आजादी आनी स्वतंत्र बनाना चाहते थे।

पढ़े : Tenali raman stories in hindi

उन्होंने भारत में अपनी पढ़ाई पूरी की और उच्च शिक्षा प्राप्त करने हेतु यानी कानून के अद्यतन के लिए इंग्लैंड चले गए। वहां से गांधी जी ने एक वकील के रूप में भारत आए और भारत में कानून का अभ्यास करना शुरू कर दीया।गांधीजी सभी भारतीयों की ब्रिटिश शासन द्वारा किए गए अपमान के सामने मदद करना चाहते थे। महात्मा गांधी जी भारत स्वतंत्रता आंदोलन के महान नेता थे जो भारत की स्वतंत्रता के लिए बहुत संघर्ष करते थे। उन्होंने 1930 में नमक सत्याग्रह या दांडी मार्च का नेतृत्व किया था। उन्होंने कई सारे आंदोलन किए और भारत की स्वतंत्रता के लिए ब्रिटिश शासन के खिलाफ काम करने के लिए भारतीयों को प्रेरित किया।


एक महान स्वतंत्रता सेनानी रूप में उन्हें कई बार जेल भी भेज दिया गया लेकिन कई भारतीयों के साथ उनके बहुत सारे संघर्षों के बाद उन्हें भारतीयों के न्याय संगतता के लिए ब्रिटिश शासन के खिलाफ लड़ाई जारी रखी और अंत में महात्मा गांधी और सभी स्वतंत्रता सेनानियों की मदद से भारत अगस्त 1948 को स्वतंत्र हो गया।

गाँधीजी पर निबंध - Essay on Mahatma Gandhi in Hindi
गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi

30 January 1948 के दिन गांधी जी का निधन हो गया। महात्मा गांधी की हत्या नाथूराम गोडसे ने की थी।स्वतंत्रता संग्राम में गांधी जी द्वारा किए गए अव्वल और महत्वपूर्ण योगदान कभी भुलाया नहीं जा सकता। गांधी जी के ही योगदान संकल्प और देश के प्रति समर्पण की वजह से आज हम आजाद और सुरक्षित है। महात्मा गांधी द्वारा की गई भारत की सेवा और योगदान के लिए हमेशा याद रखा जाएगा।हाल में 2 अक्टूबर का दिन भारत में गांधी जयंती के रूप में मनाया जाता है।

निबंध : 2 (100 शब्द)
गाँधीजी पर निबंध - Essay on Mahatma Gandhi in Hindi
गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi
  • महात्मा गाँधी का जन्म २ अक्टूबर १८६९ के दिन गुजरात के पोरबंदर में हुआ था।
  • उनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गाँधी था।
  • ऊके पिता का नाम करमचंद और माता का नाम पूतड़ीबाई था।
  • गांधीजी को बापू और राष्ट्रपिता जैसे बिरुद लोगो द्वारा प्राप्त हुए है।
गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi
  • गांधीजी सत्य और अहिंसा के महान पुजारी थे।
  • उनका जन्म दिन हर वर्ष गाँधी जयंती के रूप में मनाया जाता है।
  • गांधीजी ने भारत के स्वतंत्रता के लिए काफी परिश्रम किया और आंदोलन में भी अपना महत्वपूर्ण योगदान दिया।
  • गांधीजी एक दम साधारण और शांत स्वभाव के थे।
  • गांधीजी ने पुरे विश्व को शांति का संदेश दिया।
  • गांधीजी का जीवन सभी के लिए एक प्रेरणास्वरूप बन कर रहा है।
निबंध : 3 (200 शब्द)

भारत के चमकते सितारों में एक नाम महात्मा गांधीजी का आता है। गांधीजी को बापू और राष्ट्रपिता के नाम से भी जाना जाता है। २ अक्टूबर १८६९ के जन्मे यह महान व्यक्तित्व का नाम मोहनदास करमचंद गाँधी था। जिनका गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। उनके पिता करमचंद गाँधी को राजदुर्ग बहुत ही पसंद था।

गांधीजी ने सदैव सत्य की पूजा की , उन्होंने सत्य के सच्चे रूप को जीवन में अपनाया। उन्होंने परमाणु युग में अहिंसा का मार्ग चुना था। रेलवे में हुए एक हाथसाह के कारण उनको स्वतंत्रता के लिए प्रेरित किया। उनको भारतीय लोगो के प्रति अपमान बिलकुल पसंद नहीं था।

गाँधीजी पर निबंध - Essay on Mahatma Gandhi in Hindi
गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi

गांधीजी ने अंग्रेजो के विरोध १९२० में असहयोग आंदोलन शुरू किया था। १९४२ में भारत छोडो आंदोलन चलाया। आंदोलन के कारण गांधीजी को कई बार जेल भी हुई है। आखिर कार भारत को १५ अगस्त १९४७ को आझादी मिली। गाँधीजी के त्याग और बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता। उनका नाम इतिहास में सदैव अमर रहेगा।

३० जनवरी १९४८ को गांधीजी की हत्या करदी गई। उनकी भव्य समाधी राजघाट में बनाई गई है। उनके विचार सदैव के लिए लोगो जे दिलो में जिन्दा रहेंगे।

  • नोंध : इस आर्टिकल में उपयोग की हुई सभी फोटोज “गूगल फोटोज” और pinterest से ली गई हैं।

मेरा नाम निश्चय है। में इसी तरह की हिंदी कहानिया , हिंदी चुटकुले और सोशल मीडिया से संबंधित आर्टिकल लिखता हु। यह आर्टिकल “गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi” अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ शेयर करे और हमे फेसबुक इंस्टाग्राम आदि में फॉलो करे।

1 thought on “गाँधीजी पर निबंध – Essay on Mahatma Gandhi in Hindi”

Leave a Comment